NationalTop News

जल संकट से जूझ रहे चेन्नई में 2.5 मिलियन लीटर पानी लेकर पहुंची ट्रेन

चेन्नई। चेन्नई वासी इन दिनों पानी की भारी कमी का सामना कर रहे हैं जिसके चलते एक विशेष ट्रेन शहर की प्यास बुझाने के लिए वहां पहुंची। यह पहली 50 बोगियों वाली ट्रेन है जिसमें 2.5 मिलियन लीटर पानी शहर में पहुंचाया गया। इस विशेष ट्रेन से लाया गया पानी भी लोगों की प्यास बुझाने में असफल रहा क्योंकि चेन्नई में हर रोज़ 525 मिलियन लीटर पानी की आवश्यकता होती है। चेन्नई को पानी पहुँचाने के लिए यह ट्रेन शुक्रवार को तमिलनाडु के वेल्लार जिले के जोलारपेट्टाई स्टेशन से रवाना हुई थी। इस बात की जानकारी स्टेशन के एक अधिकारी ने दी थी। आपको बता दें कि इस ट्रेन की हर बोगी 50,000 लीटर पानी ढोने की क्षमता रखती है।

चेन्नई इस समय गंभीर जल संकट का सामना कर रहा है। पानी की यह कमी शहर के बाहर सभी जलाशयों के सूखने की वजह से हुई है। जलाशयों के सूखने के बाद वॉटर सप्लाई में 40 प्रतिशत की कटौती की गयी और लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं जिसके चलते वॉटर टैंकर्स की लागत दोगुनी कर दी गयी है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने राज्य सरकार की योजनाओं की घोषणा की थी कि जोलारपेट्टे से ट्रेन द्वारा प्रतिदिन एक करोड़ लीटर पानी चेन्नई पहुंचाया जाएगा जो उसकी जरूरतों को पूरा करेगा। उन्होंने कहा था कि इस योजना के लिए 65 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई थी। अब वाटर टैंकर्स दिनभर में 12000 बार चक्कर लगा रहे हैं।

वर्तमान में चेन्नई महानगर जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड (चेन्नई मेट्रो जल) राज्य की राजधानी में लगभग 525 मिलियन लीटर पानी प्रति दिन (एमएलडी) आपूर्ति कर रहा है। जोलारपेट्टाई का पानी मौजूदा आपूर्ति को बढ़ाएगा। चेन्नई के कई क्षेत्रों में पिछले चार महीने से पानी की किल्लत है।

Leave a Reply