City NewsTop NewsUttar Pradesh

प्रिंसिपल को अपमानित करना पड़ा महंगा, पूरे स्कूल के सामने कोतवाल को मांगनी पड़ी माफी

लखनऊ। दो लड़कों को एडमिशन से मना करने पर बीकेटी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य से अभद्रता करने वाले बख्शी तालाब कोतवाली के प्रभारी अमरनाथ वर्मा को पूरे स्कूल के सामने उनसे माफ़ी मांगनी पड़ी। अमरनाथ वर्मा नियमों को दरकिनार कर दो छात्रों को कालेज में एडमिशन करने का दबाव बना रहे थे, लेकिन बीकेटी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य ने नियमों का हवाला देकर छात्रों का एडमिशन करने से इंकार कर दिया, जिसपर अमरनाथ वर्मा ने उनसे अभद्रता कर दी।

प्रधानाचार्य ने आरोप लगाया कि कोतवाल ने शिक्षकों और छात्रों के सामने ही गालियां देकर उन्हें न सिर्फ अपमानित किया, बल्कि फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी भी देकर चले गए। कोतवाल के व्यवहार से आहत प्रधानाचार्य आरके सिंह तोमर ने इसकी शिकायत डीएम, एसएसपी व डीआईओएस से की। एसएसपी ने कोतवाल को फटकार लगाई तो बुधवार को वो कॉलेज पहुंचे और प्रार्थना सभा में सार्वजनिक रूप से अपने कृत्यों पर माफी मांगी।

उन्होंने कहा कि कुछ गलतफहमियां हो गई थीं। ग्रह नक्षत्र खराब होता है तो ये सब चीजें होती हैं। मेरे पिता भी प्रिंसिपल थे, पत्नी टीचर है। मैं शाम को खुद आने वाला था, लेकिन इससे पहले ही तय हो गया कि प्रार्थना सभा में आना है तो चला आया। इसके बाद प्रिंसिपल आरके तोमर ने कहा कि वर्मा ने अपनी शैली में अपनी भाषा में अपनी बात कही, वह उसका आदर करते हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में संस्था उनसे संरक्षित रहेगी। प्रधानाचार्य को राष्ट्रपति के राज्य शिक्षण पुरस्कार से वर्ष 2016 में सम्मानित किया जा चुका है।

Leave a Reply