City NewsTop NewsUttar Pradesh

कचौड़ी वाले की दुकान पर चुपचाप नज़र बनाए हुए थे टैक्स इंस्पेक्टर, सालाना टर्नओवर जान फटी रह गईं आंखें

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक कचौड़ी बेचने वाले व्यापारी की संपत्ति जान हर कोई हैरान है। जांच में पता चला है कि कचौड़ी वाले का सालाना टर्नओवर करोड़ के पार है। व्यापारी ने दुकान का पंजीकरण जीएसटी के तहत नहीं कराया है, जिसके चलते स्टेट इंटेलीजेंस ब्यूरो ने कचौड़ी वाले को नोटिस जारी किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़, अलीगढ़ के सीमा टॉकीज के नजदीक एक कचौड़ी वाले की दुकान है। मुकेश नाम का व्यापारी पिछले 10-12 सालों से इस दुकान को चला रहा है। बीते दिनों स्टेट इंटेलीजेंस ब्यूरो, लखनऊ को व्यापारी के बारे में शिकायत मिली।

टैक्स इंस्पेक्टरों की एक टीम ने मुकेश कचौड़ी की दुकान के पास ही स्थित एक दूसरी दुकान पर बैठकर लगातार नजर रखनी शुरू कर दी। इस दौरान उन्होंने पाया कि मुकेश का सालाना टर्नओवर 60 लाख से 1 करोड़ या इससे अधिक है। इसके बाद मुकेश को नोटिस जारी किया गया कि उन्होंने अपनी दुकान को जीएसटी के तहत रजिस्टर नहीं कराया और साथ ही कोई टैक्स भी अदा नहीं किया।

मुकेश ने कहा, “मुझे इसकी जानकारी नहीं है। मैं पिछले 12 साल से अपनी दुकान चला रहा हूं और किसी ने मुझे नहीं बताया कि ये फॉर्मैलिटी जरूरी है। हम साधारण लोग हैं और कचौड़ी-समोसा बेचकर घर चलाते हैं।” मामले की जांच कर रहे राज्य खुफिया ब्यूरो के एक सदस्य ने बताया, “मुकेश ने आसानी से अपनी आय को स्वीकार कर लिया और हमें कच्चे माल, तेल, एलपीजी सिलिंडर वगैरह पर अपने खर्च का पूरा विवरण दे दिया।” बता दें कि नियम के तहत जिस किसी का वार्षिक टर्नओवर 40 लाख या इससे अधिक है उसे जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है।

Leave a Reply