Uncategorized

जंजीर से हाथ-पैर बांधकर नदी में उतरे इस फेमस जादूगर की डूबने से मौत, दो दिन बाद मिला शव

कोलकाता। कोलकाता में जादू दिखाने के दौरान हाथ-पैर में जंजीर बांधकर नदी में उतरे झाडूगर चंचल लाहिड़ी की मौत हो गई है। 30 घंटे से भी ज्यादा समय तक चले तलाशी अभियान के बाद सोमवार की शाम को हावड़ा के रामकृष्णपुर गंगा घाट से उनका शव बरामद किया गया। आपदा प्रबंधन टीम ने घंटों मशक्कत करने के बाद उनके शव को नदी से ढूंढ निकाला। इस खबर के बाद मृतक के परिवार समेत राज्य के जादूगर समुदाय में मायूसी का माहौल है।

चंचल ने जादू को लेकर लोगों में कम होती रुचि को फिर से जगाने की एक कोशिश के तहत नदी में फिर से एक बार उस खतरनाक करतब को दुहराने की ठानी थी, जिसे वह पहले भी दिखा चुके थे। उन्हें विश्वास था कि पानी के अंदर वो अपने हाथ और पैर की जंजीर खोलकर बाहर आ जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। काफी देर तक जब वो बाहर नहीं आए तो लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। आपदा प्रबंधन विभाग गंगा में उसकी तलाश में दो दिनों से जुटा हुआ था।

पुलिस ने बताया कि जादूगर चंचल ने क्रेन की मदद से नदी में डुबकी लगाई थी। वह दर्शकों को दिखाना चाह रहा था कि नदी के अंदर जादू से अपने हाथ-पैर खोल लेगा और बाहर आ जाएगा। हालांकि ऐसा नहीं हो सका। जादूगर चंचल पश्चिम बंगाल के सोनारपुर शहर का रहने वाला था। पहले भी वह दो बार ऐसा जादू दिखा चुका था। 2013 में जादू दिखाते वक्त मौत के मुंह में जाने से बाल-बाल बचा था। पुलिस सूत्रों की मानें तो चंचल ने गंगा में जादू दिखाने के लिए पुलिस-प्रशासन से अनुमति ली थी।

Leave a Reply