Odd & WeirdOther News

यहां इस छोटी गलती पर 5 लोग मिलकर उतारते हैं लड़की के कपड़े…लग जाता है सार्वजनिक संपत्ति का ठप्पा

भारत देश परम्पराओं, संस्कृति और प्रथाओं का देश है। आज हमारे देश को पूरी दुनिया में उसकी संस्कृति और उसकी बुलंदियों को चूमती कामो की वजह से जाना जा रहा है। आज हमारे देश में लड़का हो या लड़की हर कोई नए मुकाम हासिल कर रहे हैं। आज के भारत में लड़कियों को पंख फैलाकर उड़ने को मिल रहा है। लेकिन इन सबके बीच हमारे देश में अंधविश्वास ने लोगों को अपनी कैद में कर रखा है। इन अंधविश्वासों के चलते लोग इतने अंधे हो जाते हैं कि अपनी ही औलाद की बलि चढ़ा देते हैं। देवदासी प्रथा के नाम से जानी जाती इस प्रथा के चलते अगर किसी बच्ची के बाल में जूं हो जाये तो उसे बच्ची को मंदिर को समर्पित किया जाता है। इतना ही नहीं, यहां पांच लोग मिलकर उसके कपड़े उतारते हैं।बताया जाता है वह वह अपनी बाकी की जिंदगी मंदिरों में रहकर ही गुज़ारती है। वहीं इस तरह की लड़की को सार्वजनिक संपत्ति माना जाता है जिसके साथ कुछ भी किया जा सकता है।यहां पर ही ये सिलसिला खत्म नहीं होता सब होने के बाद अंत में इन लड़कियों को वेश्यालयों में भेज दिया जाता है।मानवाधिकार के अनुसार अभी तक देवदासी प्रथा कई राज्यों में प्रचलित है।

Prarthana Srivastava

Leave a Reply