Gadgets

Tik Tok Ban पर कंपनी ने दिया बड़ा बयान कहा-‘120 मिलियन यूजर्स इसका इस्तेमाल तब भी करते रहेंगे’

भारत में तेजी से लोकप्रिय हुए एप्लीकेशन टिक टॉक को आखिरकार सुप्रीम कोर्ट ने बैन कर दिया हैं। मद्रास हाई कोर्ट में टिक टॉक तो बैन करने की याचिका दी थी, जसमें इस बात को आधार बनाया गया कि इससे बच्चो में अश्लील आदते पड़ रही है। उनमे घटिया प्रवृति जाग रही है जिससे भारत के भविष्य को खतरा है। इन सब चीजो को देखते हुए कोर्ट ने भी इस बात को संज्ञान में लाया और दोनों पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद कोर्ट ने टिक टॉक को बैन करने का फैसला लिया।गूगल और एप्पल से इन्हें प्ले स्टोर और एप्प स्टोर से ब्लाक करने का फरमान आया है। कम्पनियों ने महज 24 घंटो के भीतर ही इस एप्प को अपने अपने स्टोर से हटा दिया जिसके बाद इस एप्प को इन्स्टाल नही किया जा सकता है लेकिन इसके बाद में टिक टॉक का भी एक और बयान आया है।टिक टॉक कंपनी ने कहा कि ‘हम भारत की न्यायप्रणाली को लेकर के काफी आशावादी है और हमें पूरी उम्मीद है कि कुछ रास्ता निकलेगा और हमारे 120 मिलियन मंथली एक्टिव यूजर्स इसका इस्तेमाल भी करते रहेंगे।’कंपनी का यह बयान अपने आप में बहुत कुछ कहता है क्योंकि किसी भी एप्प को प्ले स्टोर से हटा लेना संभव है लेकिन उसके एपीके फाइल को इन्टरनेट से हटा पाना किसी भी सरकार के लिए नामुमकिन है इसलिए इस एप्प को अब एपीके फॉर्मेट में विभिन्न वेब से डाउनलोड किया जा सकता है।आपको बता दें, सरकार एपीके फाइल को नहीं हटा सकती और न ही सरकार का इसपर कोई नियंत्रण है। यहां तक की कोर्ट का भी इन पर कोई भी नियंत्रण नहीं है जिसके चलते कम्पनी कुछ हद तक आश्वस्त नजर आ रही है लेकिन प्ले स्टोर से हटने के बाद एक भारी झटका तो कम्पनी को लगा है और वो काफी फिल्टर वगेरह लगाकर के एप्प को साफ़ करने के प्रयास में जुटे है ताकि कोर्ट को खुश कर फिर से एप्प का बैन हटवा सके।

Prarthana Srivastava

Leave a Reply