Odd & WeirdOther News

बेरोज़गारों के लिए खुशखबरी! कमा सकते हैं एक घंटे में 4100 रुपए, बस करना होगा ये काम

जो लोग बेरोज़गार हैं उनके लिए अब एक खुशखबरी! अब आप एक घंटे में 4100 रूपए कमा सकते हैं।जी हां इंग्लैंड की एक कंपनी है जो एक ऐसा ऑफर लेकर आई है जिससे कई बेरोज़गारों को आराम से नौकरी मिल जाएगी बस उस कंपनी कुछ शर्तों को मानना होगा। कंपनी साफ़-सफाई करने वाले कर्मचारियों को ढूंढ रही है। इस काम के लिए वो कर्मचारियों को हर घंटे 4100 रुपये देने को तैयार है, लेकिन कंपनी की शर्त ही ऐसी है जिसे सुनकर लोग मना कर देते हैं।इंग्लैंड की इस कंपनी का नाम है ‘नेचुरिस्ट क्लिनर्स’, जिसे बड़े पैमाने पर महिला और पुरुषों की जरूरत है। कंपनी की शर्त ये है कि इस नौकरी के लिए कर्मचारी को न्यूड होकर यानी बिना कपड़ों के घरों में साफ-सफाई करना होगी। कंपनी का कहना है कि उसे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कर्मचारी मोटा है, पतला है, बूढ़ा है या जवान। कंपनी को किसी भी तरह का कोई अनुभव भी नहीं चाहिए। वो फ्रेशर्स को भी नौकरी पर रखने को तैयार है। कंपनी की बस यही पहली और आखिरी शर्त है कि इस नौकरी की चाहत रखने वाले को चाहे वो महिला हो या पुरुष, उसे न्यूड होकर घर का सारा काम करना होगा।कंपनी अपने कर्मचारियों को थोड़ी सहूलियत भी दे रही है। उसका कहना है कि जो लोग अपना प्राइवेट पार्ट ढंककर नौकरी करना चाहते हैं, वो कर सकते हैं, लेकिन इसके बदले उन्हें प्रति घंटे मेहनताना 2200 रुपये दिया जाएगा। बता दें कि इस कंपनी में कई कर्मचारी काम कर भी रहे हैं, जिसमें कई महिलाएं भी शामिल हैं। यहां नौकरी करने वाली एक महिला कर्मचारी का कहना है कि कंपनी के ज्यादातर ग्राहक पुरुष हैं, खासकर वो जो अकेले रहते हैं। उनमें 20 साल से लेकर 50 साल तक के पुरुष शामिल हैं।

 

 

उसी कंपनी में काम करने वाली एक महिला कर्मचारी एना का कहना है कि जब उन्हें इस अजीबोगरीब नौकरी के बारे में पता चला तो वो काफी उत्साहित हो गईं, क्योंकि उन्हें न्यूड रहना काफी पसंद है। वहीं, एक अन्य महिला कर्मचारी का कहना है कि उसे इस तरह की नौकरी पसंद नहीं थी, लेकिन अच्छी सैलरी की वजह से उसने ये नौकरी कर ली और अब उसे ये अच्छा लगता है।
‘नेचुरिस्ट क्लिनर्स’ कंपनी का कहना है कि हम अपने कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर बहुत गंभीर हैं। कर्मचारियों की सेफ्टी बनी रहे, ये हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prarthana Srivastava

Leave a Reply