NationalTop News

दिल्ली का ये होटल बन गया शमशान, आग लगने से 17 लोगों की तड़प-तड़पकर मौत

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में एक बड़ा हादसा हुआ है। यहां के करोलबाग स्थित अर्पित पैलेस होटल में आग लगने से 17 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। मरने वालों में एक महिला और बच्चा भी शामिल है। दमकल विभाग ने बताया कि ज्यादातर मौतें दम घुटने से हुईं। जान बचाने के लिए तीन लोग चौथी मंजिल से कूद गए। इनमें से एक की मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि होटल के कॉरिडोर में लगे लकड़ी के पैनलों की वजह से आग तेजी से फैली। बताया जा रहा है कि यहां एक ही परिवार ने 35 कमरे बुक किए थे। वे शहर में एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे।

दमकल विभाग ने बताया कि होटल के एसी कमरों की खिड़कियां पैक थीं, जिस वजह से धुआं बिल्डिंग से बाहर नहीं निकल पाया। धुआं कमरों में भरता गया। गहरी नींद में होने की वजह से होटल में ठहरे लोग धुएं और आग की चपेट में आते गए, हालांकि अस्पताल पहुंचे कई शव जली हालत में भी मिले, लेकिन माना जा रहा है कि दम घुटने की वजह से पहले लोग बेसुध हुए, उसके बाद लपटों की चपेट में आ गए। दमकल विभाग के मुख्य अधिकारी जी सी मिश्रा ने कहा, “मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है। ज्यादातर पीड़ितों की मौत दम घुटने से हुई।” होटल में बेसमेंट, ग्राउंड फ्लोर और चार अन्य मंजिलें हैं। एक परिवार ने किसी विशेष समारोह के लिए होटल के 35 कमरे बुक किए हुए थे।

तीसरी और चौथी मंजिल पर लगी आग नीचे की मंजिलों पर भी पहुंच गई। केवल बेसमेंट और ग्राउंड फ्लोर आग की चपेट में नहीं आए।
दमकल विभाग ने आग पर नियंत्रण पा लिया है। मिश्रा ने कहा कि दमकल विभाग के अधिकारी कमरे और टॉयलेट्स की तलाशी ले रहे हैं ताकि पता चल सके कि उनमें कोई फंसा तो नहीं है। उन्होंने कहा, “जब दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची, तो आग की लपटें इमारत से बाहर निकल रही थीं। उस समय भी कई लोग सो रहे थे।” अधिकारी ने कहा, “प्रथम दृष्टया हादसे की वजह शॉर्ट सर्टिक लग रही है।”