IANS News

बेंट क्रूड का भाव फिर 60 डॉलर से नीचे लुढ़का

नई दिल्ली, 6 दिसम्बर (आईएएनएस)| अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में गुरुवार को भारी गिरावट आने से ब्रेंड क्रूड का भाव एक बार फिर 60 डॉलर प्रति बैरल के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे आ गया। प्रमुख तेल उत्पादक देशों के समूह ओपेक द्वारा तेल के उत्पादन में कटौती के फैसले पर इंतजार करने के कारण तेल की कीमतों में पिछले सत्र के मुकाबले चार फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है।

इससे पहले उम्मीद की जा रही थी कि तेल उत्पादक देशों के समूह ओपेक की गुरुवार की बैठक में उत्पादन कटौती पर फैसला लिया जा सकता है, जिससे तेल की कीमतों को सपोर्ट मिलेगा, मगर ओपेक देशों को ओपेक से इतर प्रमुख तेल उत्पादक रूस के द्वारा तेल उत्पादन के मामले में फैसले का इंतजार है।

बाजार के जानकार बताते हैं कि वियना के ताजा घटनाक्रम से तेल के दाम पर दबाव आया है। उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर ओपेक देशों को तेल के उत्पादन में किसी प्रकार की कटौती नहीं करने को कहा है, जिससे कीमतों पर दबाव और बढ़ गया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, ट्रंप ने ट्वीट के जरिए कहा, “उम्मीद है कि ओपेक तेल की आपूर्ति को बरकरार रखेगा और उस पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाएगा। दुनिया तेल की कीमतों में वृद्धि नहीं देखना चाहती है और इसकी जरूरत भी नहीं है।”

ट्रंप का यह बयान वियना में गुरुवार को ओपेक की बैठक शुरू होने के एक दिन पहले आया था। इससे पहले मास्को ने ओपेक द्वारा तेल के उत्पादन में कटौती के फैसले में सहयोग करने की सहमति जताई थी।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) पर ब्रेंट क्रूड के फरवरी वायदा अनुबंध में 2.89 डॉलर यानी 2.89 फीसदी की गिरावट के साथ 58.67 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था। वहीं, न्यूयार्क मर्के टाइल एक्सचेंज (नायमैक्स) पर अमेरिकी लाइट क्रूड के जनवरी वायदा अनुबंध में 2.47 डॉलर यानी 4.67 फीसदी की गिरावट के साथ 50.42 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।