Health

खाने में शामिल ये 7 चीजें बना सकती हैं आपको कैंसर का शिकार, आज ही कर लें इनसे तौबा

नई दिल्ली। बीमारी कोई भी हो, बताकर नहीं आती है लेकिन शरीर में होने वाले कुछ बदलाव बीमारी की दस्‍तक जरूर देते हैं, जिन्‍हें नजरअंदाज करना भारी पड़ सकता है। खासकर कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के लक्षणें की अनदेखी करना बिलकुल भी सही नहीं है। अकसर देखा गया है कि पुरुष इन लक्ष्‍णों को गंभीरता से नहीं लेते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी आदतों के बारे में बताएंगे जिससे आपको समय रहते ही दूरी बना लेनी चाहिए। वर्ण आप भी कैंसर के शिकार हो सकते हैं।

आइए जानते हैं उन आदतों के बारे में:

प्रोसेस्ड मीट – प्रोसेस्ड मीट खाने से कैंसर होता है। मीट को सुरक्षित रखने के लिए जो कैमिकल यूज़ किया जाता है। उसमें सोडियम होता है।इससे मीट में सोडियम नाइट्रेट बनता है जो कैंसर के होने का खतरा बढ़ सकता है।

डिब्बाबंद टमाटर – टमाटर को लंबे समय तक डिब्बाबंद रखने से बिसफेनॉल-ए नाम का केमिकल बनता है। जो कैंसर को बढ़ावा देता है।

माइक्रोवेव पॉपकॉर्न – माइक्रोवेव में बनाए गए पॉपकॉर्न कैंसर की वजह बनते हैं। माइक्रोवेव में पॉपकॉर्न डालने से परफ्यूरोक्टानोइक एसिड बनता है। जो कैंसर का खतरा बढ़ता है।

नॉन ऑर्गेनिक फल – जो फल लंबे समय से कोल्डस्टोरेज में रखे रहते हैं, उनकी लाख सफाई के बावजूद उनपर कैमिकल की परत चढ़ी ही रहती है। इसकी वजह से कैंसर हो सकता है।

सालमन मछली – सालमन मछलियों को पानी के छोटे टैंकों में पाला जाता है। जो सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है। इससे भी कैंसर का खतरा बढ़ सकता है।

आलू चिप्स – हमारे देश में एक तरफ आलू के चिप्स को तमाम कंपनियां पैक कर के बेचती हैं, जबकि आलू चिप्स में सोडियम, नकली रंग का यूज़ किया जाता है। जो कैंसर सेल्स के पनपने का एक कारण बन सकता है।

जमा हुआ रिफाइंड – जमने वाले तेल सब्जियों और पौधों से कैमिकल क्रियाओं द्वारा प्राप्त किए जाते हैं। जिसकी वजह से उनमें ओमेगा-6 की मात्रा अधिक होती है। हाइड्रोजनीकृत तेल से कैंसर और हृदय संबंधी रोग हो सकते हैं।