NationalSportsTop Newsमुख्य समाचार

वीरेंद्र सहवाग का खुलासा, अगर क्रिकेटर ना होते तो करते ये काम!

भारत के पूर्व ओपनर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग दिल्ली के नजफगढ़ में जन्मे। सहवाग ने अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ वनडे क्रिकेट से की थी। उन्होंने अपना पहला अन्तर्राष्ट्रीय शतक न्यूजीलैंड के खिलाफ मात्र 69 गेंदों पर वर्ष 2001 में लगाया था। इसके बाद उनकी इसी तरह की निरंतर विस्फोटक बल्लेबाजी जारी रही।

मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा मुझे आर्मी और पुलिस की नौकरी में दिलचस्पी थी। अगर वो क्रिकेटर ना होते तो इन क्षेत्रों में काम करते।

क्या कहा सहवाग ने?

मेरे पिता एक किसान हैं। मैं ज़्यादा पढ़ा-लिखा नहीं हूं, इसलिए डॉक्टर या इंजीनियर नहीं बन सकता था। मुझे लगता है कि क्रिकेटर नहीं तो मैं भी किसान ही होता। मुझे आर्मी और पुलिस की नौकरी में दिलचस्पी थी, लेकिन उसके लिए फिटनेस बहुत ज़रूरी होती है। मेरी फिटनेस उस लेवल की नहीं थी।

वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर में कई तूफानी पारियां खेलीं। वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज तिहरा शतक लगाने वाले बल्लेबाज भी बने। 2009 में उन्होंने वनडे क्रिकेट में भी सबसे तेज शतक जड़ा। जिसे बाद में विराट कोहली ने तोड़ा।

Adarsh Kumar
the authorAdarsh Kumar