IANS News

दाऊदी बोहरा समाज को व्यापार की शैली ने पहचान दिलाई : मोदी

इंदौर, 14 सितंबर (आईएएनएस)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इंदौर में दाऊदी बोहरा समुदाय के अशरा मुबारक कार्यक्रम में कारोबार में गड़बड़ी करने वालों पर कटाक्ष किए, वहीं दाऊदी बोहरा समाज की ईमानदारी, सच्चाई और निष्ठा के साथ व्यापार किए जाने की सराहना की। साथ ही कहा कि इस समाज ने कानून का पालन करते हुए अपने कारोबार को आगे बढ़ाया और पहचान बनाई है।

इंदौर की सैफी मस्जिद में आयोजित कार्यक्रम में मोदी ने दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन की मौजूदगी में दाऊदी बोहरा समाज के व्यापार करने के कौशल को सराहते हुए कहा, दाऊदी बोहरा समाज ने अपनी ईमानदारी, नियम सम्मत कार्य और अनुशासन में रहते हुए व्यापार को किस तरह आगे बढ़ाया जाता है, इस मामले में आदर्श स्थापित किया है। यह समाज जहां-जहां बसा, उसने इन मूल्यों के आधार पर अपनी अलग पहचान बनाई।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, कारोबारी और व्यापारी इस देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ होता है, वह लोगों के लिए रोजगार पैदा करता है, इसलिए ऐसे कारोबारियों को जितना संभव हो प्रोत्साहन दिया जाए, यह सरकार दे रही है, यह हमारी प्राथमिकता है।

कारोबार की आड़ में चूना लगाकर देश से भाग जाने वाले कारोबारियों के नाम लिए बगैर प्रधानमंत्री ने कहा, यह भी सच है कि पांचों उंगलियां एक समान नहीं होती हैं, हमारे बीच ऐसे लोग भी निकलते हैं जो छल को ही कारोबार मानते हैं। बीते चार वर्षो में सरकार यह साफ संदेश देने में सफल हुई है कि जो भी हो, वह नियमों के दायरे में होना चाहिए। सरकार द्वारा जीएसटी, ई-सॉलवेंसी, बैंक दीवालियापन कानून जैसे उठाए गए कई कदमों से ईमानदार कारोबारियों को प्रोत्साहन मिला है।

मोदी ने आगे कहा, दाऊदी बोहरा समाज के धर्मगुरु के सहयोग से गुजरात में जलसंकट और कुपोषण को कम करने में सफलता पाई थी, यह समाज ऐसा है जो किसी को भूखे नहीं सोने देता। इतना ही नहीं, बोहरा समाज ने 11000 आवासों का निर्माण कर गरीबों को उपलब्ध कराए हैं, यह प्रशंसनीय कार्य है।

मोदी ने आगे कहा कि दाऊदी बोहरा समाज स्वास्थ्य व स्वच्छता के लिए विशेष तौर पर काम करता है, सरकार भी लोगों के स्वास्थ्य के लिए आयुष्मान भारत योजना और सबको आवास योजना पर काम कर रही है। सरकार और समाज का काम एक ही दिशा में है।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि इमाम हुसैन अमन और इंसाफ के लिए शहीद हो गए। उन्होंने अन्याय और अहंकार के विरुद्ध आवाज बुलंद की थी। उनकी सीख आज भी देश-दुनिया के लिए प्रासंगिक है। उनके पैगाम को बोहरा समाज ने जीवन में उतारा है। सबको साथ लेकर चलने की परंपरा को जीकर दिखाया है। दाऊदी बोहरा समाज की सोच देश और समाज को शक्ति प्रदान करती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने देश में 15 सितंबर से दो अक्टूबर तक ‘स्वच्छता ही सेवा’ पखवाड़ा मनाए जाने का जिक्र करते हुए कहा कि दुनिया में एक साथ करोड़ों लोग स्वच्छता के कार्य करेंगे। यह कीर्तिमान होगा।

मोदी ने स्वच्छताग्राहियों का आह्वान किया कि वे वेस्ट टू एनर्जी पर विशेष बल दें। सरकार द्वारा शुरू किया गया स्वच्छता अभियान 125 करोड़ लोगों का जन-आंदोलन बन गया है। स्वच्छता के प्रति अभूतपूर्व उत्साह दिख रहा है। इंदौर शहर अभियान का अगुआ बन गया है। भोपाल ने भी इसमें कमाल किया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पं दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर वर्ष में पांच लाख रुपये तक के नि:शुल्क उपचार का कार्यक्रम ‘आयुष्मान’ देश में लागू हो जाएगा। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में घरों में शौचालय का प्रतिशत 40 से बढ़कर 90 हो गया है। एक करोड़ परिवारों को पक्के घर मिल गए हैं।

प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी और सैयदना साहब के संबंधों की चर्चा करते हुए बताया कि दांडी यात्रा के दौरान बापू सैयदना साहब के घर सैफी विला में ठहरे थे। बाद में सैफी विला राष्ट्र को अर्पित कर दिया गया। सैयदना साहब के आर्शीवचनों से राष्ट्र-शक्ति और कल्याण के प्रति नई शक्ति, प्रेरणा और संकल्प मिलता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने लगभग 31 मिनट बोहरा समाज के लोगों को संबोधित किया और सैयदना परिवार से अपने संबंधों का जिक्र किया।

मोदी इससे पहले विशेष विमान से इंदौर विमानतल पर उतरे, जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया, उनका स्वागत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और अन्य नेताओं ने किया। धार्मिक आयोजन में हिस्सा लेने के बाद प्रधानमंत्री विशेष विमान से नई दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सेवा, समभाव और आपसी सहयोग का अद्भुत उदाहरण बोहरा समाज में देखने को मिलता है। समाज द्वारा बच्चों तथा महिला शिक्षा, व्यापार में सहयोग, गरीबी दूर करने, एक-सा भोजन करने, कोई भूखा नहीं सोने पाए, पक्की छत आदि की मुकम्मल व्यवस्था की दिशा में सराहनीय पहल की जा रही है।

कार्यक्रम में धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन ने कहा कि इमाम हुसैन ने मोहब्बत और इंसानियत हमेशा बनी रहे, इसके लिए अपनी कुर्बानी दी। उन्होंने मोहब्बत का पैगाम दिया।

सैफुद्दीन ने कहा, सभी धर्म या मजहब प्रेम का संदेश देते हैं। भारत में पीस ऑफ माइंड है। समाज को वतन के साथ प्यार करने, सबकी खुशी में खुश होने, जुबान और व्यवहार को मीठा रखने की सीख दी।

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को जन्मदिन की अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उन्हें देशवासियों के विकास तथा समग्र कल्याण की शक्ति मिले।

इंदौर के पुलिस उप महानिरीक्षक हरिनारायण चारी मिश्रा ने संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रही। पुलिस बल की तैनाती के साथ ड्रोन कैमरे और सीसीटीवी भी लगाए गए। इसके अलावा शहर के लोगों को परेशानी न हो, इसको ध्यान में रखकर मार्ग परिवर्तित भी किया गया।

दाऊदी बोहरा समुदाय के सैयदना 53वें धर्मगुरु हैं, उनका तीन साल बाद यह भारत का प्रवास है। यहां उनके 12 सितंबर से धार्मिक प्रवचन चल रहे हैं। सैयदना पहली बार इंदौर आए हैं, इससे पहले उनका सूरत में आना हुआ था। सैयदना के पिता अपने जीवनकाल में दो बार इंदौर आए थे।