InternationalOdd & WeirdOther News

ऐसा कोई दुश्मन के साथ भी नहीं करता, जो पाकिस्तान ने मासूम कुत्तों के साथ किया

इन दिनों बढ़ती धूप और तेज गर्मी की वजह से इंसान तो छोड़िए कुत्तों का भी मानसिक संतुलन बिगड़ता जा रहा है। जिसकी वजह से इन दिनों आवारा कुत्तों ने आम लोगों का जीना हराम कर दिया है। ख़बर है पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची से जहां कुत्तों का आतंक दिन ब दिन बढ़ती ही जा रहा है। ऐसे में सरकारी अधिकारी इनसे निजात पाने के लिए अकसर जहर देकर उन्हें मार देते हैं।

कराची में हर साल लोग आवारा कुत्तों के हमलों का शिकार होते हैं। इसीलिए कराची में समय समय पर हजारों की तादाद में कुत्तों को मारा जाता है। कराची के एनिमल केयर सेंटर में डॉ. इस्मा घीवाला का कहना है कि हर साल शहर में कुत्ते के काटना के 15 हजार मामले सामने आते हैं।

जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाले मुस्तफा अहमद कुत्तों को मारे जाने की वजह धार्मिक भी बताते हैं। उनके मुताबिक मौलवी कुत्ते को अच्छा जानवर नहीं बताते हैं इसलिए उनके मरे जाने से किसी को भी फर्क नहीं पड़ता है।

वही अधिकारियों का कहना है कि उनके पास इन कुत्तों के रखरखाव के लिए उपलब्धि नहीं है। ऐसे में, उन्हें खत्म करने के लिए कोई चारा नहीं है। वैसे पाकिस्तान में ही नहीं, भारत समेत कई और देशों में भी आवारा कुत्ते बड़ी समस्या है और  इन्हें खत्म करने की मांग लगातार उठ रही है।