Thursday , 8 December 2016

आगरा एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन, मुलायम ने दी अखिलेश को बधाई

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Share on LinkedIn
लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन, मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

agra-lucknow-expressway

उन्नाव। उन्नाव के बांगरमऊ में प्रदेश सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करते हुए सत्‍तारूढ़ समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बधाई दी। मुलायम सिंह ने कहा कि तय सीमा से कम समय में काम पूरा होने पर सीएम अखिलेश यादव बधाई के पात्र हैं.

मुलायम सिंह ने कहा कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से पूरे उत्तर प्रदेश की जनता को फायदा होगा। अब कोई भी रास्ता तय करने में समय कम लगेगा। उत्तर प्रदेश के अधिकारियों में बहुत क्षमता है। इन लोगों ने मेरे द्वारा दी गई समय सीमा में एक्सप्रेस वे बनाया। चार वर्ष में बनने के बजाए एक्सप्रेस वे दो वर्ष में बना है।

उन्होंने कहा कि मैंने पहले ही कहा था कि मैं किसी भी काम का शिलान्यास नहीं उद्घाटन करता हूं। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर मैं अखिलेश जी को बधाई देता हूं।

रफ्तार के साथ बढ़ेगी अर्थव्यवस्था : अखिलेश

इस अवसर पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में अब बनने का काम रुकेगा नहीं। उन्होंने कहा कि अब हम लखनऊ-बलिया एक्सप्रेस वे को भी बनाएंगे। हमको अगर किसानों का सहयोग मिला तो और सड़क बनेंगी।

अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में रफ्तार के साथ अर्थव्यवस्था बढ़ेगी। यह सड़क दिल्ली-लखनऊ जोडऩे का काम करेगा। इसकी मदद से मंडियो से किसानों को सीधे लाभ मिलेगा। प्रदेश को एक कोने से दूसरे कोने तक जोड़ेगी सड़क। इतना लंबा किसी प्रदेश के पास नहीं।

उन्होंने कहा समाजवादियों का काम देश के लिए उदाहरण है। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे से जनता को सुविधा होगी। सड़के बनने से विकास तेज होता है। इसको बनाने का काम घोषणा पत्र में था। नेताजी ने हमें बनाने का समय कम करा दिया। इससे यह सड़क 23 महीने में बनकर तैयार हुई।

उन्होंने शिलान्यास के समय कहा था कि सड़क कितने दिन में बनाओ गए। उन्होंने 22 महीनों में सड़क बनाने के लिए कहा था और 23 माह में सड़क बनी। अखिलेश ने कहा कि यहां मौजूद सभी लोगों का स्वागत एवं नेताजी के आने का धन्यवाद देना चाहता हूं।

सीएम अखिलेश यादव ने केंद्र की बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अभी तो 500 और 1000 के नोट का मुद्दा चल रहा है, लेकिन यह चमत्कारी लोग हैं चुनाव के समय न जाने कौन सा मुद्दा ले आएं। बीजेपी के लोगों के पास काम तो है नहीं, इसलिए इन लोगों से सावधान रहने की जरुरत है। अखिलेश ने दावे के साथ बोलते हुए कहा कि हमारे घोषणापत्र में था कि जब हमारी सरकार बनेगी तो यह सड़क बनेगी।

अखिलेश ने मंच से नवनीत सहगल को भी याद किया, कहा कि नवनीत सहगल ने एक्सप्रेस वे बनाने का काम किया। रेल दुर्घटना पर उन्होंने कहा कि कई लोगों की जान जाने से दुःखी हूं।

अखिलेश ने कहा कि विपक्षियों ने उत्तर प्रदेश में कोई काम नहीं किया। विपक्षी चुनाव के समय नए-नए मुद्दे लाएंगे। विकास के मामले में किसी से हमारा कोई मुकाबला नहीं। हमने विकास के संतुलन बनाए रखा। मेट्रो के पहले चरण का काम पूरा हो गया है। एक दिसंबर को लखनऊ-मेट्रो का उद्घाटन करेंगे।

अखिलेश के नेतृत्व में हुआ ऐतिहासिक काम : शिवपाल

शिवपाल यादव बोले अखिलेश के नेतृत्व में ऐतिहासिक काम हुए। मैं नेता जी को बधाई देता हूं साथ ही विशेष बधाई मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को देता हूं। शिवपाल ने अपने संबोधन में मुख्यमंत्री का पांच बार जिक्र किया पर नाम नहीं लिया।

इससे पहले प्रमुख सचिव अवस्थापना रमारमण ने सरकार की सारी उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने एक्सप्रेस वे की उपयोगिता की जानकारी देने के साथ ही इसकी महत्ता पर प्रकाश डाला। रमा रमण ने बताया कि 302 किमी लंबे एक्सप्रेस वे का निर्माण सिर्फ 23 महीने में पूरा किया गया है। उन्होंने कहा कि इतना बड़ा प्रोजेक्ट पूरा करने में पांच वर्ष का समय लगता है। इसको छह से आठ लेने में भी परिवर्तित किया जा सकता है।

आजम खां का अमर सिंह पर निशाना

आजम खां ने अपने संबोंधन के दौरान इशारो-इशारो में अमर सिंह पर निशाना साधा। बोले साजिश करने वाले बाज नहीं आते। उन्हें अब चेत जाना चाहिए।

इससे पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज पार्टी के प्रचार के लिए प्रयोग में आने वाले समाजवादी रथ पर सवार होकर उन्नाव के बांगरमऊ पहुंचे। उनके साथ सांसद धर्मेन्द्र यादव के साथ ही अक्षय यादव तथा कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी भी विकास रथ में सवार थे।

कार्यक्रम स्थल पर आने के साथ मुख्यमंत्री काफी देर तक वहां शिवपाल के साथ ही रामगोपाल यादव तथा आजम खां के साथ मंत्रणा करने के बाद सपा मुखिया मुलायम सिंह को रिसीव करने हैलीपैड पर गये।

इसके बाद सपा मुखिया मुलायम सिंह, जया बच्चन और पत्नी डिंपल यादव को लेकर अखिलेश यादव पुन: कार्यक्रम स्थल पहुंचे। मुख्यमंत्री ने आज उद्घाटन के दौरान होने वाले सभी सांस्कृतिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया। इंदौर-पटना रेल हादसे के कारण सभी सांस्कृतिक कार्यक्रमों कार्यक्रमों को निरस्त किया गया है।

ड्रीम प्रोजेक्ट

छह लेन के इस एक्सप्रेस-वे को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जाता है। इसको प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजना भी माना जाता है। लखनऊ-आगरा के बीच मार्ग 302 किलोमीटर लम्बा है। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर उन्नाव में एयर स्ट्रिप बनी है। जिसके ऊपर जरूरत पडऩे पर फाइटर प्लेन की लैंडिग भी संभव होगी। एक्सप्रेस वे पर एयर स्ट्रिप तीन किलोमीटर लंबी है।

जिम्मेदारी चार आईएएस अफसरों के कंधों पर

वरिष्ठ आइएएस अधिकारी नवनीत सहगल के दुर्घटना में घायल होने के बाद इसके लोकापर्ण की जिम्मेदारी चार आईएएस अफसरों के कंधों पर थी। इसके लोकापर्ण की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री सचिव पार्थ सारथी सेन शर्मा के साथ लखनऊ के कमिश्नर भुवनेश कुमार,डीएम उन्नाव सुरेंद्र सिंह व डीएम गोंडा आशुतोष निरंजन के कंधों पर थी। यूपीडा के सभी अफसर कार्यक्रम में मौजूद रहे। इनके साथ ही वायु सेना के अफसर भी इसके उद्घाटन कार्यक्रम में मौजूद रहे।

साढ़े तीन घंटे में पहुंच सकेंगे आगरा से लखनऊ

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के माध्यम से लखनऊ से आगरा की दूरी लगभग साढ़े तीन घंटे में तथा आगे दिल्ली तक की दूरी मात्र पांच से छह घंटे में तय की जा सकेगी। एक्सप्रेस-वे से यात्रा करने से समय में बचत के साथ-साथ वाहनों के इंधन की खपत में भी कमी आएगी।

23 माह के रिकॉर्ड समय में हुआ पूरा

प्रवक्ता ने बताया कि एक्सप्रेस-वे के मुख्य कैरिजवे का निर्माण 23 माह के रिकॉर्ड समय में किया गया है। इसका काम जनवरी 2015 में शुरू हुआ था. एक्सप्रेस-वे आगरा से शुरू होकर फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कन्नौज, हरदोई, कानपुर नगर तथा उन्नाव होते हुए लखनऊ तक पहुंचेगा।

11526.73 करोड़ की लागत, 3500 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण

एक्सप्रेस-वे परियोजना की खास बात है कि 10 जिलों के 232 गांवों में लगभग 3500 हेक्टेयर भूमि 30 हजार 456 किसानों से आपसी सहमति से बिना किसी विवाद के क्रय की गई है। इस जमीन के लिए किए गए भुगतान को छोड़कर परियोजना की लागत 11526.73 करोड़ रुपए है।

आपात स्थिति में उतर और उड़ सकेंगे लड़ाकू विमान

प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों के आपातकाल में ऑपरेशन के लिए एक्सप्रेस-वे पर देश के पहले एयर स्ट्रिप का भी निर्माण किया गया है। एक्सप्रेस-वे के किनारे जनपद मैनपुरी तथा कन्नौज में अति विशिष्ट मंडियों की स्थापना की जा रही है। उद्घाटन कार्यक्रम में 11 लड़ाकू विमान यहां लैंडिग और टेकऑफ करेंगे।

एक्सप्रेस-वे के किनारे बनेंगी स्मार्ट सिटी और फिल्म सिटी

एक्सप्रेस-वे के किनारे स्मार्ट सिटी, लॉजिस्टिक पार्क और फिल्म सिटी की भी स्थापना प्रस्तावित है। एक्सप्रेस-वे के बन जाने से तमाम उद्योगों जैसे-कृषि, हैंडीक्राफ्ट, पर्यटन तथा दुग्ध उद्योग का विकास होगा, जिससे बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा। एक्सप्रेस-वे के दोनों ओर ग्रीन बेल्ट को विकसित करने के लिए लगभग 3 लाख पौधे रोपित किए जा रहे हैं।

About Diwakar Misra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.

Free WordPress Themes - Download High-quality Templates