Saturday , 10 December 2016

आईएसएल : नार्थईस्ट युनाइटेड के लिए काफी कुछ दांव पर

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Share on LinkedIn
गुवाहाटी, नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी, हीरो इंडियन सुपर लीग, सेमीफाइनल, चेन्नई, काफी रोमांचक

आईएसएल

गुवाहाटी| नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी के हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएलएस) के सेमीफाइनल में पहुंचने की सिर्फ 35.8 फीसदी सम्भावना है। बेशक यह टीम सेमीफाइनल में पहुंचने को लेकर आशान्वित चार टीमों में से एक है लेकिन इसके बावजूद यह काफी संयमित और सकारात्मक सोच रखती है। नार्थईस्ट युनाइटेड को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए अपने बाकी बचे मैचों से अधिकतम अंक जुटाने हैं। शीर्ष-4 में जगह बनाने के लिए उसके लिए यही अंतिम मिशन है और इसी मिशन के तहत वह बुधवार को यहां के इंदिरा गांधी एथलेटिक स्टेडियम में दिल्ली डायनामोज से भिड़ेगी, एक लिहाज से सेमीफाइनल में स्थान बना चुके हैं।

नीलो विंगाडा की टीम को अपने अंतिम मैच में चेन्नयन एफसी के खिलाफ बुरी हार मिलनी तय दिख रही थी लेकिन अंतिम मिनट में शौवीक घोष ने गोल करते हुए उसे एक अंक दिलाया था। इसी अंक की बदौलत वह आज की तारीख में अंतिम-4 की दौड़ में बना हुआ है।

चेन्नई के साथ हुआ उसका वह मुकाबला काफी रोमांचक था। विंगाडा ने मैच के बाद कहा था कि उनकी टीम इस एक अंक की हकदार थी क्योंकि उसने काफी अच्छा खेल दिखाया था।

विंगाडा ने कहा, “अगर आप कहेंगे कि हमने सौभाग्य से अंतिम मिनट में गोल किया था तो मैं भी इससे सहमत हूं लेकिन हमने लड़कर इस सौभाग्य को अपनी ओर किया था। हमने गोल करने के मौके बनाए थे और इसी कारण हमें सफलता मिली थी। और मैं यह ईमानदारी से कह सकता हूं कि हम बराबरी और एक अंक के हकदार थे। यह सही परिणाम था और इस परिणाम ने हमारे मनोबल को ऊंचा किया है। अब हम अपने बाकी बचे दो मैचों में जोरदार खेल दिखाएंगे।”

विंगाडा को बाकी बचे मैचों के लिहाज से अपने टीम संयोजन को लेकर काफी मेहनत करनी होगी। कोफ्पी नाद्री और निकोलस वेलेज को तीन-तीन पीले कार्ड मिल चुके हैं और अगर उन्हें एक और पीला कार्ड मिला तो फिर उनका एक मैच से बाहर होना तय है। ऐसे में ये खिलाड़ी केरल के साथ होने वाले अहम मुकाबले में नहीं खेल सकेंगे।

नार्थईस्ट का सौभाग्य है कि उसके चमकदार खिलाड़ी रोवलिन बोर्गेस मैदान में लौट आए हैं। वह एक मैच के निलम्बन के बाद वापसी कर रहे हैं। इसके अलावा विंगाडा अपने जापानी मिडफील्डर कात्सुमी युसा को भी अंतिम एकादश में शामिल करना चाहेंगे।

दिल्ली के लिए चिंता की कोई बात नहीं है। उसके खाते में 20 अंक हैं और अब वह अपने अंतिम मुकाबलों में से एक के लिए तैयार है। उसने अपने घर में एफसी गोवा को 5-1 से हराया था और इस लिहाज से उसका मनोबल सातवें आसमान पर है।

दिल्ली के कोच गियानलुका जाम्ब्रोता ने कहा, “दुभाग्य से हम अब तक सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सके हैं। इसी लिए हमें अब अपने अगले मैच पर ध्यान लगाना होगा। यह टीम काफी कठिन है और इसी कारण हम कदम दर कदम की रणनीति पर चल रहे हैं।”

अगले महीने मुम्बई सिटी एफसी के खिलाफ अपना अंतिम मैच खेलने के लिए तैयार दिल्ली के सेमीफाइनल में पहुंचने की 99.59 फीसदी सम्भावना है। ऐसे में जाम्ब्रोता अपने कुछ अहम खिलाड़ियों को आराम देना चाहेंगे। जाम्ब्रोता ने कहा, “हमें अपने खिलाड़ियों की ओर देखना होगा। कुछ खिलाड़ी चोट से उबरने की प्रक्रिया में हैं और हमने अब तक नार्थईस्ट के साथ होने वाले इस मैच को लेकर अब तक कुछ ठोस रणनीति नहीं बनाई है।”

 

About urvashi kasera

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.

Free WordPress Themes - Download High-quality Templates