Monday , 5 December 2016

आईआईटीआर में आउटरीच कार्यक्रम के तहत ओपन डे का आयोजन

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Share on LinkedIn
भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव-2016, सीएसआईआर–आईआईटीआर, ओपन डे का आयोजन, प्रोफेसर आलोक धवन, आशुतोष टंडन

Professor Alok Dhawan honouring Chief Guest Ashutosh Tandon

लखनऊ। भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव-2016 के अंतर्गत सीएसआईआर–आईआईटीआर (भारतीय विष विज्ञान अनुसंधान संस्थान) लखनऊ, जो वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद की एक घटक प्रयोगशाला है, में आम नागरिकों में वैज्ञानिक समझ और स्वभाव में वृद्धि करने के उद्देश्य से अपने परिसर में आज एक ओपन डे का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर संस्थान की  विभिन्न सफलता की कहानियों को 50 वर्षों की उपलब्धियों की प्रदर्शनी द्वारा दिखाया गया। प्रोफेसर आलोक धवन, निदेशक सीएसआईआर–आईआईटीआर ने सभा का स्वागत किया और आशुतोष टंडन, विधायक एवं मुख्य अतिथि ने प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

मुख्य अतिथि ने खाद्य पदार्थों में मिलावट का पता लगाने और स्वच्छ पानी के उत्पादन हेतु समाधान उपलब्ध कराने की दिशा में संस्थान द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों की सराहना की। उन्होंने इस अवसर पर बड़ी संख्या में संस्थान में उपस्थित स्कूल में बच्चों को संबोधित करते हुए तकनीकी प्रगति और पर्यावरण सुरक्षा के बीच एक संतुलन कायम करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होने कहा कि देश विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जबरदस्त प्रगति कर रहा है साथ ही हमे एक संतुलित वातावरण बनाना चाहिए जो जीवन को अनुकूल बनाने में उपयोगी हो।

इस अवसर पर डॉ एसपीएस खनूजा, निदेशक और मेंटर स्काइज़ लाइफ टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड तथा पूर्व निदेशक सीएसआईआर-केंद्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान, लखनऊ ने एक लोकप्रिय विज्ञान व्याख्यान दिया।

उन्होने कहा कि विज्ञान केवल प्रयोगशालाओं तक ही सीमित नहीं है बल्कि जो कोई व्यवस्थित और तार्किक तरीकों का जीवन में उपयोग करता है वह विज्ञान का वास्तविक जीवन में प्रयोग कर रहा है।

उन्‍होंने कहा कि एक लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कठिन प्रयास की आवश्यकता है और यहाँ तक पहुँचने के लिए नकारात्मकता और इस प्रयास के दौरान उत्पन्न होने वाली कठिनाइयों की अनदेखी की भी जरूरत है।

आईआईटीआर ने बड़े पैमाने पर छात्रों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, हितधारकों और आम जनता के लिए मेजबान की भूमिका निभाई जो दिन भर संस्थान का दौरा करने के लिए आए। लखनऊ के निवासियों के लिए प्रदर्शनी में रखी गई प्रौद्योगिकियों और वैज्ञानिकों के साथ बातचीत एक सुखद अनुभव रहा।

इस अवसर पर वैज्ञानिकों एवं छात्रों के बीच एक प्रश्नोत्तर कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया जिसमे छात्रों द्वारा विभिन्न विषयों पर प्रश्न पूछे गए और आईआईटीआर के वैज्ञानिकों द्वारा सभी प्रश्नों के यथोचित समाधान दिये गए।

About Diwakar Misra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.

Free WordPress Themes - Download High-quality Templates