Tuesday , 17 January 2017

नवाजुद्दीन, रैना व कैफ के यश भारती पेंशनर होने पर याचिका शीघ्र

Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Share on LinkedIn
डॉ नूतन ठाकुर, यश भारती, पद्म पुरस्कार, 50,000 मासिक पेंशन

nutan-thakur

लखनऊ। सोशल एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने आज कहा कि जिस प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार ने यश भारती पुरस्कार दिए और जिस प्रकार सक्षम व्यक्ति यश भारती और पद्म पुरस्कारों के लिए 50,000 मासिक पेंशन ले रहे हैं, वह वास्तव में अजीबोगरीब है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग के वेबसाइट के अनुसार 22 फ़रवरी 2016 के अब तक 174 लोगों को यह पेंशन प्रदान किया गया है।

इनमे बॉलीवुड के राज बब्बर, अभिजित भट्टाचार्य, समीर, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, कैलास खेर, मुज़फ्फर अली, सुधीर मिश्र, राजू श्रीवास्तव, अनुराग कश्यप और विशाल भरद्वाज, क्रिकेटर मोहम्मद कैफ और सुरेश रैना, प्रतिष्ठित कलाकार राजन और साजन बंधू, अनूप जलोटा, नादिरा बब्बर, सुभा मुद्गल, गिरिजा देवी और बिरजू महराज, कवि और लेखक अशोक चक्रधर, सुनील जोगी, विक्रम सेठ, गोपाल चतुर्वेदी, कुलदीप नैयर व गोपाल दास नीरज, यूनिवर्सिटी प्रोफ़ेसर एस एस कटियार, जे एस राजपूत, इरफ़ान हबीब, राज बिसारिया, डॉ सरोज गोपाल और रवि कान्त, आईएएस की पत्नी सुरभि रंजन और मालिनी अवस्थी, आईपीएस अफसर अपर्णा कुमार तथा अन्य संपन्न लोग जैसे रुना बैनर्जी, अरुणिमा सिन्हा तथा डॉ जगदीश गाँधी शामिल हैं।

नूतन ने कहा कि जहाँ वास्तव में पेंशन के हक़दार लोगों को वृद्धावस्था और विधवा पेंशन में रु०300 तथा समाजवादी पेंशन में रु०500 प्रतिमाह दिया जाता है, वहीँ इन साधन संपन्न लोगों को यश भारती पुरस्‍कार 50,000 मासिक पेंशन दिया जा रहा है, जो गरीबी का सीधा उपहास है। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में शीघ्र जनहित याचिका दायर की जा रही हैं।

About Diwakar Misra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.

Free WordPress Themes - Download High-quality Templates