Monday , 24 April 2017

गुजरात के मुख्यमंत्री रहते मोदी ने रिश्वत ली थी : केजरीवाल

केजरीवाल, दिल्ली विधानसभा, नरेंद्र मोदी, नोटबंदी

Arvind kejriwal

नई दिल्ली | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर रिश्वतखोरी का आरोप लगाया और कहा कि ‘जो खुद भ्रष्ट है वह भ्रष्टाचार मिटाने की बात कर देश की जनता को गुमराह कर रहा है।’ आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा कि मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उन्होंने एक कंपनी से 12 करोड़ रुपये रिश्वत के रूप में लिए थे।

केजरीवाल ने यह आरोप दिल्ली विधानसभा में एक प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान अपने भाषण में लगाया। दिल्ली सरकार के प्रस्ताव में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से अनुरोध किया गया है कि वह केंद्र सरकार को नोटबंदी की कठोर पहल को तुरंत वापस लेने का निर्देश दें, क्योंकि धन्ना सेठों का कालाधन ठिकाने लगवाने के बाद दिखावे के लिए नोटबंदी कर देश के लोगों को नाहक परेशान किया जा रहा है।

केजरीवाल ने आरोप लगाया, “अक्टूबर, 2015 को आयकर विभाग ने आदित्य बिड़ला समूह के नई दिल्ली स्थित परिसर में छापेमारी की थी, जिसमें 25 करोड़ रुपये बरामद हुए थे।”

उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने दस्तावेज, खाता-बही, कंप्यूटर रिकार्ड और कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी का लैपटॉप जब्त किया था, जिसमें संदेश था, “गुजरात के मुख्यमंत्री-25 करोड़ (12 करोड़ अदा, शेष?)”

केजरीवाल ने दावा किया, “यह स्पष्ट रूप से इशारा करता है कि गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री को 12 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया।”

केजरीवाल ने सदन से प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आरोपों को प्रस्ताव में जोड़ने का अनुरोध किया और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में जांच का आदेश देने का अनुरोध किया। विधानसभा ने ध्वनिमत से प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया।

About Diwakar Misra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Free WordPress Themes - Download High-quality Templates